तेलंगाना सरकारी स्कूलों में अब अंग्रेजी में होगी पढ़ाई, शिक्षकों को दी जाएगी ये भाषा पढ़ाने की ट्रेनिंग


छात्रों को अंग्रेजी में शिक्षा देने के लिए शिक्षकों को किया जाएगा प्रशिक्षित

हैदराबाद:

तेलंगाना के मंत्रिमंडल ने शैक्षणिक वर्ष 2022-23 से राज्य के सभी सरकारी स्कूल में अंग्रेजी माध्यम में भी पढ़ाई शुरू करने और निजी स्कूल, जूनियर तथा डिग्री कॉलेज में शुल्क को विनियमित करने का निर्णय किया है. अंग्रेजी माध्यम शुरू करने से अभिप्राय स्कूल में विभिन्न विषयों की पढ़ाई अंग्रेजी में शुरू करने से है. आधिकारिक विज्ञप्ति में कहा गया कि सोमवार को हुई बैठक में इस संबंध में फैसला किया गया. मंत्रिमंडल ने विभिन्न मुद्दों पर गौर करने और दिशानिर्देश तैयार करने के लिए शिक्षा मंत्री सबिता इंद्र रेड्डी की अध्यक्षता में मंत्रियों की एक उपसमिति का गठन किया है.

यह भी पढ़ें

ये भी पढ़ें- CBSE 10 And 12 Term 2 Sample Papers: सीबीएसई टर्म 2 परीक्षा के सैंपल पेपर्स जारी, इस लिंक पर जाकर देखें

बैठक में मंत्रिमंडल ने सरकारी स्कूल में बेहतर बुनियादी सुविधाओं और गुणवत्तापूर्ण शिक्षा के लिए 7,289 करोड़ रुपये की लागत की ‘मन वूरू मन बड़ी’ (हमारा गांव-हमारा स्कूल) योजना को भी मंजूरी दी. विज्ञप्ति में कहा गया, ‘‘ मंत्रिमंडल को लगता है कि ग्रामीण क्षेत्रों में माता-पिता अपने बच्चों को सरकारी स्कूल में भेजने के लिए तैयार हैं, यदि शिक्षा का माध्यम अंग्रेजी हो. इसलिए मंत्रिमंडल ने सरकारी स्कूल में अंग्रेजी को शिक्षा का माध्यम बनाने तथा उसके अनुरूप आधारभूत संरचना विकसित करने का निर्णय किया है.”

सरकार ने प्राथमिक स्तर पर छात्रों को अंग्रेजी में शिक्षा देने के लिए शिक्षकों को प्रशिक्षित करने, स्कूल में बच्चों के लिए आकर्षक वातावरण बनाने, परिसर को साफ-सुथरा रखने, मध्याह्न भोजन कार्यक्रम में सुधार करने के लिए एक कार्य योजना तैयार करने का भी निर्णय किया है.

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)



News Collected From

Leave a Reply

Your email address will not be published.