पानीपत का EHC रिजाइन मामला: SP बोले- निर्धारित ड्यूटी नहीं कर रहा था आशीष; मानसिक तनाव के लिए करवाएंगे काउंसलिंग


पानीपत2 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

हरियाणा के पानीपत जिला पुलिसकर्मियों पर भ्रष्टाचार और अपराधियों से मिलीभगत के आरोप लगाते हुए गुरुवार को जिले में तैनात EHC आशीष कुमार ने रिजाइन लेटर दे दिया। इस मामले में SP शशांक कुमार सावन ने कहा कि आशीष कुमार निर्धारित ड्यूटी स्थान पर नहीं करने का आदी है।

वह अपनी मनमर्जी से अलग-अलग क्षेत्रों पर ड्यूटी करने के लिए पहुंच जाता था। वर्तमान में इसकी तैनाती यातायात के ईस्ट जोन में होने के बावजूद अपनी ड्यूटी को छोड़कर अलग-अलग थाना क्षेत्रों में जाकर नियम के खिलाफ दबिश दे रहा था।

हरियाणा पुलिस बल सेवा-सुरक्षा-सहयोग के साथ-साथ अनुशासन बल के लिए भी जानी जाती है। मगर मुख्य सिपाही आशीष कुमार निर्धारित जगहों पर ड्यूटी न देकर लंबे समय से अनुशासनहीनता का परिचय दे रहा था।

EHC आशीष कुमार व उनका त्याग पत्र।

EHC आशीष कुमार व उनका त्याग पत्र।

पुलिस अधीक्षक शशांक कुमार सावन ने बताया कि मुख्य सिपाही आशीष कुमार कई बार पेश होकर मानसिक तनाव के बारे में बात कर चुका है। कहीं, मानसिक स्थिति का सामना न कर रहा हो, इस वजह से हर बार कार्रवाई न कर उसको समझा कर पंसद की ड्यूटी पर तैनाती दी गई।

इसके अतिरिक्त मुख्य सिपाही आशीष कुमार के खिलाफ अलग-2 मामलों में संलिप्त होने के कारण कई बार कानूनी एवं विभागीय कार्रवाई अमल में लाई जा चुकी है।

2018 में भी मांगी थी आशीष ने रिटायरमेंट

हरियाणा पुलिस विभाग के प्रत्येक कर्मचारी की समस्याओं के निवारण करने के लिए प्रयत्न करता है। मुख्य सिपाही आशीष कुमार ने अपनी कुछ समस्याएं आज लिखकर दी हैं। इसके संदर्भ में समस्या का समाधान निकालने के लिए जरूरत पड़ी तो मुख्य सिपाही आशीष कुमार की काउंसलिंग करवाई जाएगी।

इससे पहले भी वर्ष 2018 में मुख्य सिपाही आशीष द्वारा स्वेच्छा से रिटायरमेंट लेने के बारे में अर्जी दे चुका है। उस समय भी उच्च अधिकारियों द्वारा काउंसलिंग करवाकर समझाकर विभाग में बने रहने दिया था।

एसपी कार्यालय के बाहर त्यागपत्र लेकर खड़े EHC आशीष कुमार।

एसपी कार्यालय के बाहर त्यागपत्र लेकर खड़े EHC आशीष कुमार।

आशीष के नाम पर वधावाराम कॉलोनी में मारपीट

21 सितंबर की रात करीब 8:30 बजे दो लड़के सिविल कपड़ों में वधावाराम कॉलोनी पानीपत में चिराग के घर के बाहर पहुंचे। जहां पर उन्होंने चिराग से जबरदस्ती क्षेत्र में शराब के खुर्दों के बारे में पूछा। चिराग ने जानकारी न होने के कारण मना किया, तो दोनों ने चिराग के साथ मारपीट कर दी।

उन लड़को द्वारा अपने आप को मुख्य सिपाही आशीष के आदमी होने का दावा किया गया। जिस घटना के संबंध में पीड़ित चिराग द्वारा अपने चोट का मेडिकल करवाकर थाना तहसील कैंप में शिकायत दर्ज करवाई।

थाना तहसील कैंप ने अज्ञात युवकों के खिलाफ केस दर्ज किया है। इसके अलावा वधावाराम कॉलोनी में एक मकान में जो शराब मिली थी, उसके संबंध में थाना तहसील कैंप केस दर्ज कर आरोपी जसक्रीत की गिरफ्तारी की गई।

पुलिस पर लगे आरोपों की होगी जांच: एसपी

एसपी ने कहा कि मुख्य सिपाही आशीष कुमार द्वारा गुरुवार को मीडिया के माध्यम से भ्रष्टाचार और अवैध कार्यों में पुलिस की संलिप्ता के बारे में जो आरोप लगाए हैं, उनकी गहनता से जांच की जाएगी। भ्रष्टाचार और अवैध कार्यों में पुलिस की संलिप्ता किसी भी सूरत में सहन नहीं की जाएगी।

इससे पहले भी ऐसे कार्यों में संलिप्ता पाए जाने पर कार्रवाई की जा चुकी है। अब भी इस प्रकार की गतिविधियों में कोई भी कर्मचारी शामिल पाया जाता है, उसके खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।

खबरें और भी हैं…



News Collected From www.bhaskar.com

Leave a Reply

Your email address will not be published.