निर्मम हत्या: युवक के  मुंह व हाथ में कपड़ा बांध कर की हत्या, शव रेलवे ट्रैक के पास फेंका


फरीदाबाद3 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

न मृतक की हुई पहचान न हत्यारे का लगा सुराग, जीआरपी ने अज्ञात के खिलाफ दर्ज किया का केस।

सराय ख्वाजा रेलवे फाटक (गुरुकुल) के पास एक युवक का हाथ व मुंह में पकड़ा बांधकर सिर कुचल कर हत्या कर दी गई। उसका शव रेलवे ट्रैक के किनारे मिला। सूचना पर पहुंची जीआरपी ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। लेकिन अभी तक न तो मृतक की पहचान हो पायाी है और न ही हत्यारे का कोई सुराग लग पाया है।

मौके पर डॉग स्क्वायड और फारेंसिक टीम भी पहुंचकर जांच पड़ताल की। जीआरपी ने आसपास की कॉलोनियों में लोगों को बुलाकर शव के पहचान कराने की कोशिश की लेकिन कुछ पता नहीं चल पाया। जीआरपी का मानना है कि युवक की कहीं बाहर हत्या कर उसके शव को यहां फेंका गया है। वहीं एक अन्य घटना में ओल्ड फरीदाबार रेलवे स्टेशन के आगे नीलम पुल की ओर करीब 500 मीटर की दूरी पर शुक्रवार की रात करीब दो बजे ट्रेन की चपेट में आने से 30 वर्षीय युवक की मौत हो गई। उसकी पहचान नहीं हो पायी है। मृतक ने मैरून कलर की टीशर्ट पहन रखी है।

सिर पर वार कर की गई हत्या

जीआरपी थाना प्रभारी नरेंद्र कुमार ने बताया कि सुबह करीब आठ बजे सूचना मिली कि एक युवक का शव गुरुकुल रेलवे फाटक के पास टूटी दीवार के अंदर रेलवे लाइन के किनारे पड़ा है। सूचना पर जीआरपी मौके पर पहुंची तो देखा कि उसके मुंह और हाथ कपड़े से बंधे हुए थे। सिर पर किसी वजनदार चीज से वार कर हत्या की गई है।

नहीं मिला कोई कागजात

थाना प्रभारी ने बताया कि मृतक के पास से ऐसा कोई भी कागजात नहीं मिला जिससे उसकी पहचान हो सके। मृतक की उम्र करीब 35 साल के आसपास है। मृतक ने मेहंदी कलर की टीशर्ट व नीले कलर का निक्कर पहन रखा है। उन्होंने बताया कि उसकी पहचान के लिए रेलवे लाइन के किनारे बसी दयालबाग और लक्कड़पर कॉलोनी के मौजिज लोगों को बुलाकर उसकी शिनाख्त कराने का प्रयास किया गया लेकिन अभी पहचान नहीं हो पायी है। उन्होंने लोगों से अपील करते हुए कहा है कि अगर मृतक व हत्यारोपी के बारे में किसी को कोई सुचना मिले तो जीआरपी प्रबन्धक थाना के मोबाइल फोन नंबर 7291972102 पर सूचना दे सकते हैं। ऐसे व्यक्ति का नाम गुप्त रखा जाएगा।

खबरें और भी हैं…



News Collected From www.bhaskar.com

Leave a Reply

Your email address will not be published.