चीन की ‘iPhone city’ में कोरोना लॉकडाउन, Foxconn की हिंसक झड़पों के बाद आया फैसला


चीन (China) में फॉक्सकॉन फैक्ट्री के बाहर इमारतों को बाड़े लगा कर हाई-रिस्क घोषित किया गया है (प्रतीकात्मक तस्वीर)

चीन (China) में शुक्रवार 6 मिलियन लोगों को एक ऐसे शहर में कोविड लॉकडाउन (Covid Lockdown) में डाल दिया गया जहां दुनिया की सबसे बड़ी iPhone फैक्ट्री (Factory) भी है. इससे पहले तनख्वाह को लेकर पुलिस और आईफोन फैक्ट्री के मजदूरों के बीच झड़प की खबरें आईं थीं. अधिकारियों ने हेनान प्रांत के झेंगझोऊ में आठ ज़िलों के निवासियों को आदेश दिया है कि वो अगले पांच दिनों तक यह इलाका छोड़ कर बाहर ना जाएं. इमारतों को बाड़े लगा कर हाई-रिस्क इमारत घोषित किया गया है और यातायात रोकने के लिए चेकप्वाइंट बनाए गए हैं. इस शहर में केवल चंद कोरोना के मामले हैं. यह आदेश फॉक्सकॉन की बड़ी iPhone फैक्ट्री में काम के हालात और तनख्वाह को लेकर सैकड़ों कर्मचारियों के विरोध प्रदर्शन के बाद लिया गया है. शुक्रवार को भी यहां रैलियां निकाले जाने की तस्वीरें सामने आईं.  

यह भी पढ़ें

सोशल मीडिया पर पब्लिश हुई वीडियो फुटेज दिखाती है कि शहर के पूर्व में सड़कों पर हाथ में होर्डिंग लिए कई लोग चल रहे हैं.  

एएफपी इस बात की पुष्टि नहीं कर सका कि यह यह विरोध प्रदर्शन सटीक तौर पर से कब हुआ.  एक आदमी को कहते सुना जा सकता है…”कितने सारे लोग हैं.”

       

गुरुवार को कई कर्मचारी  फॉक्सकॉन से 10,000 युआन ($1,400)  लेकर,  प्लांट छोड़कर चले गए. उन्होंने चीन के शॉर्ट वीडियो एप दोउयिन (Douyin) और कुआईशोऊ  (Kuaishou) पर कहा कि ताइवानी टेक कंपनी कई लोगों को वापस भेज रही है जो उसके नई भर्तियों के एड देखकर आए थे.  

कई कर्मचारियों ने बताया कि कई लोग जो फैक्ट्री में खाली पड़ी पोस्ट देख कर आए थे, अब प्लांट के बाहर क्वारेंटीन होटल्स में फंस गए हैं.   

Featured Video Of The Day

क्राइम रिपोर्ट इंडिया : ऑस्ट्रेलिया में महिला की हत्या करने वाला भारतीय दिल्ली में चार साल बाद गिरफ्तार



News Collected From

Leave a Reply

Your email address will not be published.