आफताब को बचाने वाले पुलिसकर्मियों को मिला इनाम: कमिश्नर ने तारीफ करते हुए 10-10 हजार दिए; 70 टुकड़े करने आए थे हिंदू सेना के लोग


  • Hindi News
  • National
  • Shraddha Walkar Murder Case Updates: Aaftab Amin Poonawala’s Polygraph Test Completed, Report To Come Soon

नई दिल्ली40 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

आफताब पर हमला करने वालों को काबू करने के लिए रिवॉल्वर निकाल ली। हालांकि, फायरिंग नहीं की।

श्रद्धा मर्डर केस के आरोपी आफताब को बचाने वाले पुलिसकर्मियों को इनाम मिला है। दिल्ली पुलिस कमिश्नर ने तारीफ करते हुए 10-10 हजार रुपए दिए हैं। आफताब पर हमले के दौरान किसी भी तरह का नुकसान नहीं होने पर खुशी जाहिर की है।

दरअसल, आफताब को ले जा रही पुलिस वैन पर सोमवार को रोहिणी स्थित फॉरेंसिक साइंस लेबोरेटरी (FSL) के बाहर 4-5 लोगों ने हमले की कोशिश की। इनके हाथों में तलवारें थीं। पुलिस ने इन हमलावरों से आफताब को बचाया था। मामले में 2 लोगों को अरेस्ट भी किया था।

आफताब को डर था श्रद्धा उसे छोड़ देगी, इसलिए मार डाला
इधर, मीडिया रिपोर्ट्स में सामने आ रहा है कि श्रद्धा आफताब की मारपीट से परेशान थी। वह उसे छोड़ना चाहती थी। दिल्ली पुलिस के सूत्रों ने मंगलवार को भास्कर को बताया कि 3-4 मई को आफताब और श्रद्धा ने अलग रहने का फैसला किया था। यह बात आफताब को रास नहीं आई। उसे लगता था कि श्रद्धा किसी और के साथ इन्वॉल्व हो जाएगी। इसके बाद आफताब ने श्रद्धा का मर्डर कर उसके टुकड़े कर दिए।

तिहाड़ जेल में आफताब को अलग सेल में रखा गया है। यहां उसके अलावा कोई और कैदी नहीं है।

तिहाड़ जेल में आफताब को अलग सेल में रखा गया है। यहां उसके अलावा कोई और कैदी नहीं है।

श्रद्धा मर्डर केस में आज के अपडेट्स

  • FSL के सहायक निदेशक संजीव गुप्ता ने बताया कि पिछले हफ्ते से जारी आफताब का पॉलीग्राफ टेस्ट आज वो खत्म हो गया। जल्द ही रिपोर्ट पुलिस को सौंप दी जाएगी।
  • स्पेशल कमिश्नर ऑफ पुलिस सागरप्रीत हुड्‌डा ने दिल्ली कोर्ट से 1 दिसंबर को आफताब का नार्को टेस्ट करवाने की अपील की थी, जिसे मंजूरी मिल गई है। आफताब का नार्को टेस्ट बाबा साहब अंबेडकर हॉस्पिटल में होगा।
  • सोमवार को आफताब पर हमले के बाद लैब के बाहर BSF तैनात की गई है। हमले के 2 आरोपियों को 14 दिन की ज्यूडिशियल कस्टडी पर जेल भेज दिया गया है।
  • आफताब की जेल वैन पर हुए हमले में शामिल चार ओर आरोपियों का नाम आया सामने। धन सिंह उर्फ लीलू गुर्जर, आकाश, सोम्मे और पिंटू की तलाश में पुलिस छापेमारी कर रही है।
  • दिल्ली पुलिस ने श्रद्धा को जॉब दिलाने वाले जिमेश नांबियार का बयान दर्ज किया है। रिपोर्ट्स के मुताबिक, श्रद्धा के पिता ने भी अपना बयान दर्ज करवाया है।
FSL टीम को आफताब से पूछताछ के बाद उसके फ्लैट से खून के धब्बे मिले हैं।

FSL टीम को आफताब से पूछताछ के बाद उसके फ्लैट से खून के धब्बे मिले हैं।

श्रद्धा मर्डर केस में नई जानकारियां 5 पॉइंट्स में…

1. आफताब मई के बाद से कम खाना मंगवाने लगा था
पुलिस ने आफताब की इंटरनेट हिस्ट्री निकालने के लिए वॉट्सऐप, फेसबुक, इंस्टाग्राम, गूगल, गूगल पे, पेटीएम समेत कई ऐप से डाटा मांगा है। सूत्रों के मुताबिक, जोमैटो ने जानकारी दी है कि आफताब पहले दो लोगों का खाना ऑर्डर करता था, लेकिन कुछ दिनों बाद उसने एक ही व्यक्ति का खाना ऑर्डर करना शुरू कर दिया। बता दें, श्रद्धा और आफताब 8 मई को मुंबई से दिल्ली शिफ्ट हुए थे। 10 दिन बाद यानी 18 मई को आफताब ने श्रद्धा का मर्डर कर दिया।

2. पेटीएम और गूगल पे से आफताब के पेमेंट्स की जानकारी मांगी
दिल्ली पुलिस ने गूगल पे, पेटीएम से आफताब के पेमेंट डीटेल मांगे हैं। इससे पहले, बंबल डेटिंग ऐप (Bumble dating App), फेसबुक, इंस्टाग्राम समेत कई प्लेटफॉर्म्स को चिट्ठी लिखकर आफताब के अकाउंट्स की डिटेल्स मांगी थी। कुछ ऐप ने डिटेल्स दी भी हैं। पुलिस को गूगल ब्राउजिंग के कुछ संदिग्ध लिंक मिले हैं, जिन्हें आफताब ने सर्च किया था।

3. पूछताछ के दौरान बेहद कॉन्फिडेंट है आफताब
पुलिस सूत्रों से यह जानकारी भी मिली है कि पूछताछ के दौरान आफताब बहुत ज्यादा कॉन्फिडेंट है। जब उससे पूछताछ की जाती है, तो वह बहुत तेजी से और रिलेक्स होकर जवाब दे रहा है। इससे लगता है कि वह पहले से सोचे-समझे जवाब देता है।

पुलिस को शक यह भी है कि जब सितंबर-अक्टूबर में आफताब को मुम्बई पुलिस ने पूछताछ के लिए बुलाया था, उस वक़्त भी श्रद्धा के कुछ बॉडी पार्ट्स उसके दिल्ली वाले फ्लैट में मौजूद थे।

आफताब (लाल घेरे में) की यह तस्वीर सोमवार की है। जब उसे तिहा़ड़ से रोहिणी स्थित FSL लाया गया। फोटो- ANI

आफताब (लाल घेरे में) की यह तस्वीर सोमवार की है। जब उसे तिहा़ड़ से रोहिणी स्थित FSL लाया गया। फोटो- ANI

4. अब तक 13 हड्डियां मिली, खून के सैंपल जांच के लिए भेजे
पुलिस ने आफताब की निशानदेही पर अभी तक 13 हड्डियां बरामद की हैं। श्रद्धा का जबड़ा मिलने की जानकारी भी मिली है। गुरुग्राम से भी कुछ बॉडी पार्ट रिकवर होने की बात सामने आई है। इसके अलावा आफताब के घर के बाथरूम, किचन के अलावा बेडरूम से भी खून के धब्बों के सैंपल मिले हैं, जिन्हें जांच के लिए भेजा गया है।

दिल्ली पुलिस ने जंगल और आफताब के फ्लैट से कुछ हथियार भी बरामद किए हैं। हालांकि इनमें से किस हथियार से श्रद्धा का शव काटा गया, यह CFSL रिपोर्ट आने के बाद पता लगेगा। इस केस में आफताब और श्रद्धा को फ्लैट दिलाने वाले बद्री का अब तक कोई संदिग्ध रोल नहीं मिला है। उसने केवल इन्हें मकान दिखाया था।

5. आफताब पर हमला, हमलावर बोले- 70 टुकड़े करने आए हैं
आफताब की वैन पर कुछ लोगों ने हमला किया। एक हमलावर ने बताया कि 15 लोग गुरुग्राम से आए थे और सुबह 11 बजे से ही FSL के बाहर घात लगाकर बैठे थे। ये लोग गाड़ी में कई सारी तलवारें और हथौड़े लेकर आए थे। उसने कहा कि हमारी बहन बेटी को जिसने 35 टुकड़ों में काटा उस आफताब को हम 70 टुकड़ों में काटने आए थे।

हमले के दौरान की अहम तस्वीरें…

पुलिस वैन के बाहर आते ही सुबह से घात लगाए बैठे हमलावरों ने वैन पर तलवारों से हमला कर दिया।

पुलिस वैन के बाहर आते ही सुबह से घात लगाए बैठे हमलावरों ने वैन पर तलवारों से हमला कर दिया।

हमलावरों को देख ऐसा लग रहा था जैसे उनके सिर पर खून सवार है। इन सभी के पास हथियार के रूप में तलवारें थीं।

हमलावरों को देख ऐसा लग रहा था जैसे उनके सिर पर खून सवार है। इन सभी के पास हथियार के रूप में तलवारें थीं।

हमलावर आफताब पर हमला मारने के लिए उसे वैन से उतारने की कोशिश कर रहे थे। एक ने तो पुलिस वैन का दरवाजा तक खोल लिया था।

हमलावर आफताब पर हमला मारने के लिए उसे वैन से उतारने की कोशिश कर रहे थे। एक ने तो पुलिस वैन का दरवाजा तक खोल लिया था।

हमलावर कार से आए थे। पुलिस ने उनकी कार से 5 तलवार और 1 हथौड़ा जब्त किया है।

हमलावर कार से आए थे। पुलिस ने उनकी कार से 5 तलवार और 1 हथौड़ा जब्त किया है।

पुलिस ने हमला करने वाले दो लोगों को हिरासत में ले लिया है। इनकी पहचान निगम गुर्जर और कुलदीप ठाकुर के रूप में हुई है।

पुलिस ने हमला करने वाले दो लोगों को हिरासत में ले लिया है। इनकी पहचान निगम गुर्जर और कुलदीप ठाकुर के रूप में हुई है।

पुलिस को मिला श्रद्धा की हत्या में इस्तेमाल किया गया हथियार
इससे पहले मर्डर केस में दिल्ली पुलिस को बड़ी कामयाबी मिली थी। पुलिस ने सोमवार को श्रद्धा की हत्या में इस्तेमाल हथियार बरामद किया। न्यूज एजेंसी ANI ने दिल्ली पुलिस सूत्रों के हवाले से बताया- श्रद्धा की वो अंगूठी भी बरामद कर ली गई है, जिसे आफताब ने मर्डर के बाद दूसरी लड़की को गिफ्ट दिया था।

ये लड़की मर्डर के बाद आफताब के फ्लैट पर भी आई थी। उस दौरान श्रद्धा की बॉडी के टुकड़े फ्लैट में ही फ्रिज में मौजूद थे। पुलिस ने कहा था कि डेटिंग ऐप के जरिए आफताब ने दूसरी गर्लफ्रेंड से कॉन्टैक्ट किया था।

केस में किए गए इन 3 नए दावों को पढ़िए…

1. दोस्तों को ब्रेकअप की कहानी सुनाई: मीडिया रिपोर्ट्स में दावा किया जा रहा है कि श्रद्धा को मारने के बाद आफताब मुंबई में उसके दोस्तों से मिला था और उन्हें ब्रेकअप की कहानी सुनाई थी।

2. हत्या में दूसरे व्यक्ति ने साथ दिया: श्रद्धा की हत्या करने में आफताब का साथ एक व्यक्ति ने दिया था। दिल्ली पुलिस को शक है कि इसी व्यक्ति ने सबूत मिटाने में भी आफताब की मदद की। फिलहाल, पुलिस इसके बारे में जानकारी जुटा रही है। हालांकि यह पता नहीं चला है कि उसने यह थ्योरी किस आधार पर बनाई।

3. ड्रग पैडलर ने आफताब को ड्रग्स दी: गुजरात पुलिस ने एक ड्रग पैडलर फैजल मोमिन को गिरफ्तार किया है। उसने दावा किया है कि वह आफताब को ड्रग्स सप्लाई करता था। आफताब नशीली दवाओं का इस्तेमाल करता था, या नहीं। इसे भी जांच में शामिल किया जाएगा।

18 मई को हुआ था श्रद्धा का मर्डर
दिल्ली पुलिस के मुताबिक 28 साल के आफताब ने 18 मई को 27 साल की श्रद्धा का मर्डर कर दिया था। दोनों लिव-इन में रहते थे। आफताब ने श्रद्धा के शव के 35 टुकड़े किए थे। इन्हें रखने के लिए 300 लीटर का फ्रिज खरीदा था। वह 18 दिन तक रोज रात 2 बजे जंगल में शव के टुकड़े फेंकने जाता था।

श्रद्धा मर्डर केस से जुड़ी ये खबरें भी पढ़ें…

1. आफताब ने कत्ल से पहले दृश्यम देखी थी, पार्ट-2 का इंतजार कर रहा था

पुलिस सूत्रों के मुताबिक, आफताब ने माना है कि उसने श्रद्धा के कत्ल से पहले बॉलीवुड फिल्म दृश्यम देखी थी, उसे पार्ट-2 का भी इंतजार था। FSL सूत्रों के मुताबिक, दृश्यम देखकर ही वो मर्डर के बाद एक कहानी गढ़ने की फिराक में था। पूरी खबर पढ़ें …

2. पीटने के 5 दिन बाद श्रद्धा को अस्पताल लाया आफताब, डॉक्टर बोले- चल भी नहीं पा रही थी

मुंबई के ओजोन अस्पताल के डॉ. शिवप्रसाद शिंदे ने मीडिया को बताया है कि 3 दिसंबर 2020 को श्रद्धा उनके पास इलाज कराने आई थी। उसके शरीर पर जो चोटें थीं, वो फिजिकल वॉयलेंस के चलते ही आती हैं, लेकिन उसने कुछ भी खुलकर नहीं बताया। पूरी खबर पढ़ें…

खबरें और भी हैं…



News Collected From www.bhaskar.com

Leave a Reply

Your email address will not be published.